नया टैक्स नियम

भारत सरकार अपने पिछले बजट में नया नियम लेकर आई और देश में क्रिप्टोकरेंसी पर टैक्स लगाने की शुरुआत हुई है।

Arrow

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने घोषणा की, जिसमें क्रिप्टोकरेंसी, नॉन-फंजिबल टोकन्स (NFTs) और वर्चुअल डिजिटल असेट्स से जुड़े टैक्स रेट और इसकी गणना का तरीका बताया गया है।

Arrow

नया टैक्स नियम

30% टैक्स

बजट में बताए गए नियमों के मुताबिक 1 अप्रैल 2022 से , सभी तरह के वर्चुअल असेट्स पर अब 30 प्रतिशत टैक्स लगाया जाएगा। 30% टैक्स तभी लगेगा जब आपको फायदा होता है।

Arrow

इसके अलावा 1 जुलाई 2022 से क्रिप्टोकरेंसीज और डिजिटल असेट्स से जुड़े हर तरह के लेनदेन के साथ सोर्स पर एक प्रतिशत टैक्स (TDS) कटेगा। इसमे आपको फायदा हो या न हो आपको 1% TDS देना पड़ेगा। 

TDS कितना लगेगा?

Arrow

गिफ्ट पर टैक्स

गिफ्ट में दी गईं क्रिप्टोकरेंसीज, NFTs और वर्चुअल असेट्स पर भी गिफ्ट पाने वाले को टैक्स का भुगतान करना होगा।

Arrow

1. 30% tax आपको हर ट्रैंज़ैक्शन पर नहीं बल्कि जिस  निवेश मे आपको फायदा  हो रहा है केवल वही transaction ही कर योग्य है। यानि की अगर आपको घाटा होता है तो tax नहीं देना पड़ेगा।

इन बातों का रखे ध्यान

Arrow

2. यदि कोई व्यक्ति VDA यानि virtual digital asset का ट्रैंज़ैक्शन करता है तो उसको tax केवल मुनाफे के वक़्त देना पड़ेगा।

Arrow

इन बातों का रखे ध्यान

3. virtual assets या crypto से हुए घाटे को दूसरे business जैसे म्यूचुअल फ़ंड या शेयर मार्केट के साथ setup नहीं किया जा सकता है।

इन बातों का रखे ध्यान

Arrow

4. Virtual digital assets से हुए हर लेन-देन पर 1 परसेंट TDS लगेगा।यानि यदि कोई डिजिटल टोकन खरीदा या बेचा जाए, उसमें घाटा या नफा हो, उस पर 1 परसेंट टीडीएस देना ही होगा।

Arrow

इन बातों का रखे ध्यान

5. गिफ्ट में कोई भी डिजिटल वर्चुअल एसेट लिया जाए, उस पर भी क्रिप्टो टैक्स देना होगा। इस मामले में क्रिप्टोकरेंसी और एनएफटी पर 30 परसेंट की दर से टैक्स चुकाना होगा।

इन बातों का रखे ध्यान

Arrow

pspmaker.com

ऐसी ही Web-Stories के लिए

Cryptocurrency और डिजिटल assets से जुड़े टैक्स की पूरी जानकारी के लिए नीचे क्लिक करें ↧ ।